आगरा मैं ब्लैक फंगस(Black Fungus) के मामले बढ़ें कोरोना के मरीज हुए कम

आगरा मैं ब्लैक फंगस(black fungus) के मामले तेजी से बढ़ रहे है वही कोरोना के मामलों मैं कमी आयी है जो की आगरा के लिए राहत की बात है। ब्लैक फंगस का संक्रमण उन्हीं लोगों मैं देखे को मिला है जो कोरोना से ठीक हुए है । आगरा मैं कोरोना संक्रमण दर मई के पहले हफ्ते की तुलना मैं काफी कम हो गया है ।

आगरा में स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों ने दावा किया है कि इस दर से जल्द ही अगले सप्ताह तक संक्रमित मरीजों की संख्या घटकर बहुत काम हो जाएगी ।आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार मई के पहले सप्ताह में 34,030 लोगों में से 2,596 लोग कोविड से संक्रमित हुए थे । संक्रमण दर लगभग 7.62 प्रतिशत थी। इस हफ्ते सिर्फ 5,71 मरीज मिले।

1 मई को आगरा मैं 647 मरीज पॉजिटिव पाए गए थे, जबकि 7 मई को यह संख्या घटकर 198 और 23 मई को घटकर 57 हो गयी है ।

आगरा मैं ब्लैक फंगस(Black fungus) के 17 मरीज

आगरा मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आर सी पांडे(Dr RC Panday) ने कहा कि जिले में म्यूकोर्मिकोसिस(Mucormycosis) या ब्लैक फंगस (black fungus)के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। एसएन मेडिकल कॉलेज में अब तक 17 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 5 मरीज गंभीर हैं। आसपास के जिलों में भी म्यूकोर्मिकोसिस(Mucormycosis) फैल रहा है और संक्रमण के कारण ग्वालियर के एक मरीज की आंख तक चली गयी ।

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज ने ब्लैक फंगस के मरीजों के लिए बार्ड मैं 45 बेड से बढ़ाकर 100 बेड कर दी है. क्यों कि एक मरीज को अस्पताल में भर्ती होने के बाद ठीक होने में दो महीने से अधिक समय लग सकता है। वही S.N कॉलेज के प्राचार्य डॉ. संजय काला ने कहा कि ब्लैक फंगस के मरीज समय के साथ बढ़ने की आशंका है, क्योंकि एसएन मेडिकल कॉलेज में आसपास के सभी जिलों से मरीज आ रहे हैं।

ब्लैक फंगस किसे हो सकता है ?

ब्लैक फंगस उन कोविद 19 के मरीजों को होता है जिनको डाईबेटिक है और उनका शुगर कंट्रोल मैं नहीं है। जिनको लम्बे समय तक सिस्टमिक स्टेरॉयड मिले हो , जिनको इम्यूनोमोडुलेटर ड्रग्स मिले हो, जो बहुत दिनों तक ऑक्सीजन सपोर्ट पर रहे हो ,

ब्लैक फंगस के लक्षण क्या है ?

अगर आपको सिरदर्द हो ,चेहरे के एक हिस्से में दर्द महसूस हो या उसमें सूजन हो ,चेहरा सुन्न पड़ रहा हो,चेहरे का रंग बदल रहा हो,पलकें सूजने लगी हों,दांत हिलने लगे, धुंधला दिखाए देना , डबल विज़न,

ये लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। दवाइयों से भी इसका इलाज हो जाता है। कुछ मौकों पर सर्जरी भी करनी पड़ती है। इसलिए अगर आपको डाइबिटीज है और कोरोना से संक्रमित हो गए हैं तो अपना ब्लड शुगर नियमित तौर पर चेक करते रहें और शुगर की दवाई बिल्कुल संभल कर लें।

NOTE: बिना डॉक्टर की सलाह के हाई स्टीरोइड का सेवन न करें

Share
Team Agra News

Recent Posts

Phone Pe Loan लेने के लिए क्या करें:

आज हम जानते है Phone Pe Loan कैसे ले सकते है । आज के माहौल मैं…

3 hours ago

आगरा में अब 91 केंद्रों पर करा सकेंगे वेक्सिनेशन -The Agra News

आगरा न्यूज़ : आगरा में अब 91 केंद्रों पर युवा करा सकेंगे वेक्सिनेशन। युवाओ में…

3 weeks ago

आगरा में ऑक्‍सीजन की किल्लत हुई कम दो ऑक्सीजन प्लांट कर रहे है ठीक काम-Oxygen in Agra

आगरा में ऑक्‍सीजन की किल्लत अब जा के थोड़ी कम हुई है दो ऑक्सीजन प्लांट…

1 month ago

बांके बिहारी जी के बारे में 5 रोचक तथ्य-Banke Bihari Meaning

बांके बिहारी जी के बारे में 10 ऐसे रोचक तथ्य जो बांके बिहारी जी के…

2 months ago