इस इस दिन है गणेश चतुर्थी व्रत, पढ़ें गणेश चतुर्थी व्रत कथा और जानिए कब है गणेश चतुर्थी हर महीने(kab kab hai ganesh chaturthi 2020)

अगर आप भी 2020 मैं आने वाले गणेश चतुर्थी के बारे मैं जानकIरी चाहते है और आपका सवाल भी यही है कि Ganesh Chaturthi kab hai तो आपकी सर्च यहाँ पूरी हो जाएगी

हिंदू कैलेंडर में प्रत्येक चंद्र महीने में दो चतुर्थी तीथियां होती हैं। हिंदू धर्मग्रंथों के अनुसार चतुर्थी तिथि भगवान गणेश की है। शुक्ल पक्ष के दौरान अमावस्या या अमावस्या के बाद की चतुर्थी को विनायक चतुर्थी के रूप में जाना जाता है और कृष्ण पक्ष के दौरान पूर्णिमा या पूर्णिमा को संकष्टी चतुर्थी के रूप में जाना जाता है।

गणेश चतुर्थी जनवरी से दिसम्बर 2020 केलिन्डर आप नीचे देख सकते है

गणेश चतुर्थी, जिसे हम लोग विनायक चतुर्थी के नाम से भी जानते है ,एक हिंदू त्योहार है जिसे गणेश जी के कैलाश पर्वत से अपनी मां देवी पार्वती / गौरी के साथ पृथ्वी पर आगमन के ख़ुशी मैं मनाते है। kab hai ganesh chaturthi-2020

वैसे तो विनायक चतुर्थी का व्रत हर महीने किया जाता है लेकिन सबसे महत्वपूर्ण विनायक चतुर्थी भाद्रपद के महीने में आती है। भाद्रपद माह के दौरान विनायक चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के रूप में जाना जाता है। गणेश चतुर्थी पूरे विश्व में हिंदुओं द्वारा भगवान गणेश के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है।

गणेश चतुर्थी जनवरी से दिसम्बर 2020

DateDayTime
28 January 2020Tuesday11:30 AM to 01:39 PM
27 February 2020Thursday11:25 AM to 01:43 PM
March 28, 2020, Saturday11:12 AM to 01:40 PM
April 27, 2020, Monday11:00 AM to 01:38 PM
May 26, 2020,Tuesday10:56 AM to 01:41 PM
June 24, 2020,Wednesday11:00 AM to 01:47 PM
July 24, 2020,Friday11:06 AM to 01:49 PM
August 22, 2020,Saturday11:06 AM to 01:42 PM
September 20, 2020Sunday11:01 AM to 01:27 PM
October 20, 2020, Tuesday10:57 AM to 11:18 AM
November 18, 2020, Wednesday11:02 AM to 01:10 PM
December 18, 2020, Friday11:16 AM to 01:20 PM
Ganesh Chaturthi Calender-2020

गणेश चतुर्थी(Ganesh Chaturthi ) को लोग गणेश चवथी, गणेश चौथी(Ganesh Chauth ) , गणेशोत्सव आदि नामों से भी जानते है।हर महीने दो चतुर्थी आती हैं। इस बार 22 जून बुधवार को vinayak chaturthi है। इस दिन भगवान गणेश की पूजा होती है और उनका व्रत रखा जाता है।

शाम को चांद को अर्घ्य देकर व्रत पूरा होता है। इस दिन सुबह सवेरे स्नान करके स्वच्छ कपड़े पहनकर भगवान गणेश की अराधना करनी चाहिए। कहा जाता है कि भगवान गणेश विघ्नहर्ता है और सभी की मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इसलिए इस दिन व्र रखने से सभी प्रकार के संकटों से मुक्ति मिलती है। इस दिन ऊं चतुराय नमः, ऊं गजाननाय नमः, ऊं विघ्नराजाय नमः, ऊं प्रसन्नात्मने नमः मंत्रों का जाप करना चाहिए।

Share
Team Agra News

Recent Posts

किसान की बेटी बबिता छौंकर(Babita Chhonkar) ने नॅशनल चैंपियनशिप में जीता कांस्य पदक

आगरा जनपद के क़स्बा अछनेरा के गांव अरदाया की बेटी बबिता छौंकर(Babita Chhonkar) ने बॉक्सिंग…

4 weeks ago

विकास कुमार आगरा के नए एसपी सिटी

आगरा के नए एसपी सिटी बने आईपीएस विकास कुमार उनकी नियुक्ति बोतरे रोहन प्रमोद के…

1 month ago

बांके बिहारी जी(Banke Bihari) का अलौकिक भक्त डाकू गोवर्धन

एक बार राजिस्थान मैं भागवत की कथा हो रही थी वही एक चोर जो हर…

2 months ago

Phone Pe Loan लेने के लिए क्या करें:

आज हम जानते है Phone Pe Loan कैसे ले सकते है । आज के माहौल मैं…

3 months ago